Showing posts with label THYROID. Show all posts
Showing posts with label THYROID. Show all posts

Wednesday, 7 December 2016

थायराइड की समस्या में वजन कम करे | Weight Loss in Thyroid

थायराइड की समस्या में वजन बढ़ने लगता हैं | क्योकि थायराइड का सीधा संबंध
मेटाबोलिज्म से होता हैं | यह दो प्रकार का होता हैं |

  1. हायपरथायराइडिज्म
  2. हायपोथायराइडिज्म


यह दोनों ही एक दुसरे के विपरीत होते हैं |  हायपरथायराइडिज्म में वजन कम होता हैं जबकि हायपोथायराइडिज्म में वजन बढ़ता हैं | हायपोथायराइडिज्म में मेटाबोलिज्म के पचाने की क्षमता कम हो जाती हैं | वह भोजन को जल्दी से पचा नहीं सकता हैं | इसलिय व्यक्ति मोटापे के शिकार हो जाते हैं | यदि यह रोग किसी फिटनेस वाले या वाली को हो जाता हैं तब वह मोटापे के शिकार नहीं होते हैं | इस रोग में आपकी सावधानी ही आपके रोग को ठीक कर सकती हैं | जो लोग इस समस्या से नहीं इसकी वजह से मोटापे के शिकार हो रहे हैं वह लोग अपनी सेहत का ख्याल नहीं रखते हैं तभी वो लोग मोटे होते हैं |जिन लोगो को इस बीमारी का पता नहीं होता और यदि वो लोग जंक फ़ूड का इस्तेमाल खाने में करते हैं तब यह समस्या अधिक बढ़ जाती हैं | क्योकि जंक फ़ूड में सोडियम प्रचुर मात्रा में होता हैं  |

थायराइड की समस्या में वजन कम करे | Weight Loss in Thyroid


हायपोथायराइडिज्म में आपका वजन इतना भी नहीं बढ़ता यह सिर्फ आपके वजन में 5-10 किलो जोड़ता हैं | बाकि का वजन आपके अनियमित और ख़राब भोजन की वजह से बढ़ता हैं | इसके उपाय की तरफ जाने से पहले हम आपको इसके लक्षण की तरफ ले जाते हैं | चलिए जानते हैं इसकी वजह से हमारे शरीर में कोन -२ से रोग उत्पन हो जाते हैं |

  1. वजन बढ़ने के साथ-२ त्वचा का रुखापन |
  2. अधिक सर्दी लगना उसकी वजह से जोड़ो में दर्द होना |
  3. चहरे का फूलना |
  4. ह्रदय दर कम होना |
  5. कब्ज का शिकार होना |


उपाय की तरफ जाने से पहले अपने डॉक्टर से पूरी सलाह ले की आपको हायपोथायराइडिज्म हैं या नहीं | सबसे पहले हायपोथायराइडिज्म की जाँच करवा ले | अब आप यह उपाय अपना सकते हो |

आहार को बदले 

यदि आप मोटे होते जा रहे हैं और आपने हायपोथायराइडिज्म की जाँच करवा ली हैं तब आपको अपने आहार को बदलना होगा | क्योकि आपको नमक छोड़ना होगा
| सफ़ेद नमक की जगह आप सेंधा नमक उपयोग में ले सकते हैं | वो भी थोडा ही | नमक पानी की वजह से हायपोथायराइडिज्म बढता हैं | यदि आपका वजन आहार
बदलने पर भी बढ़ रहा हैं तब भी आपको आहार प्लान बदलना होगा | और जब तक बदलना होगा जब तक आपको कोई आहार प्लान सूट नहीं कर जाता | क्योकि वजन एकदम से निचे नहीं आएगा | बस आपको अपने आहार में इन चीजो का इस्तेमाल नहीं करना हैं |
500mg से ज्यादा सोडियम नहीं खाना हैं |
ब्रेड , चावल , अधिक वसा वाला खाना |
जंक फ़ूड का इस्तेमाल न करे |

खाने का नियम बनाये

हायपोथायराइडिज्म की समस्या होने पर भूखे कभी नहीं रहे | अपने भोजन का एक नियम बनाये, सही समय पर भोजन करे | जैसा की मैंने पहले बताया भोजन को बदले जैसे की रोटी सिर्फ गेहू के आटे की ही इस्तेमाल में ले | कम खाए लेकिन खाए और वो भी संतुलित |

पोटैशियम युक्त आहार खाए

सोडियम युक्त आहार को कम करने के लिए पोटैशियम युक्त आहार को खाना चाहिए जैसे केला, खुबानी, संतरा, शकरकंद, और चुकंदर का सेवन करना है।

प्रोटीन युक्त आहार हैं जरुरी

ऐसे भोजन का सेवन करे जो प्रोटीन से भरपूर हो साथ ही साथ जिसमे सोडियम की मात्रा बहुत कम हो | हो सके तो लीन प्रोटीन वाले खाद्य पदार्थो जैसे सोया उत्पादों का सेवन करे |

पानी खूब पिए

पानी पीने से आपके थायरॉयड की समस्या कम होने लगती हैं |

व्यायाम का नियमित रखे

नियमित व्यायाम ही थायराइड से लड़ने में मदद कर सकता हैं | जो आपके चिकत्सक आपको दवाई दे रहे हैं उनको लगातार लेते रहिये साथ ही साथ व्यायाम भी करे सप्ताह में 5 बार तो आपको व्यायाम करना बहुत जरुरी हैं | व्यायाम से आपका मेटाबोलिज्म ख़राब नहीं होगा और थायराइड से आपका वजन नहीं बढेगा |
इसके लिए आप दिन में 1 बार कम से कम कपालभाती प्राणायाम करे | गर्दन को आगे पीछे घुमाये | उज्जयिनी प्राणायाम 10 से 15 बार दोहराएं। इसके लिए आप कुछ आसन भी अपना सकते हैं जैसे विपरीत करणी आसन, मत्स्यासन व हलासन, उष्ट्रासन व धनुरासन

धनिये की चटनी

धनिये की चटनी का इस्तेमाल आप थायराइड की समस्या से निजात पाने के लिए कर सकते हैं | ताजा धनिये को पिसकर उसकी चटनी बना ले उसके बाद एक चमच चटनी को एक गिलास में डालकर खाली पेट इसका सेवन करे | आपको थायराइड की समस्या में रहत मिलेगी |

आहार जो आप थायराइड की समस्या में इस्तेमाल कर सकते हैं 

लोकी का गुनगुना जूस सुबह खाली पेट पि सकते हैं |
ज्वारो के जूस का सेवन भी लाभदायक हैं |
ताजा एलोवेरा के जूस का इस्तेमाल कर सकते हैं | जो की आपके लिए फाइबर का इस्तेमाल कर सकते हैं |

Tuesday, 7 July 2015

THYROID: EAT THESE, AVOID THESE

Problems occur in thyroid gland and about its symptoms we have discussed earlier, let’s know about prevention of this disease

Avoid these eatables:
In case of problems related to thyroids soya and its products are considered to be villain no. 1, modern researches  are even proving this thing also, approx 1/3 rd of children who are sufferers of auto immune thyroid, are mainly sue to soya-milk and its products. You may know that soya bean is a good source of hydrogenated fat and poly unsaturated oil.

Cauliflower, broccoli and cabbage itself contains glycogen due to which it affects production of thyroid.

THYROID: EAT THESE, AVOID THESE


What to eat:
IODINE- In case on thyroid problems role of iodine is very important, on this nutrient only functioning of thyroid depends. In whole world instead of problems due to auto immune thyroid, almost all patients’ main cause is lack of iodine only and even this problem is solved and controlled at a great instant with provisions of iodized salts and processes food items.

VITAMIN D- In case of auto immune production of less thyroxine (hashimoto’s disease) and more thyroxine (graves’ disease) in both cases consumption of sufficient vitamin D in necessary. Food products like fish, egg, milk and mushroom contains excess of vitamin D and should be eaten regularly. And if content of vitamin D is less than required then in form of supplement better to consult doctor.

SELENIUM- thyroid gland possesses selenium in high quantity and thus it is also known as thyroid super nutrient, it is the main head of many enzymes production related to thyroid and it also have control on functioning of thyroid. Selenium is a small such nutrient on which immune system of body also dependent on great extent. Hence for success of thyroid function chestnut, almond and other dry fruits should be taken in diet.

Chromium picolinate medicine given to diabetics patients may nullify functions of medicines given for thyroid hence patient should take a gap of around 3-4 hours between intakes of both medicines. Flevonoids containing vegetables and tea improves function of heart but excess intake of it can effects function of thyroid badly hence they should be consumed in controlled quantity.

Controlled exercises are also necessary for thyroids and hyper-thyroids cases. It protects from increase of weight, weariness etc.

For patients of thyroids smoking is like poison, especially thiocyanate present in cigarette also harms thyroid gland hence stay away from active and passive smoking.

SOMEWHERE NUCLEAR: on occurrence of accident potassium-iodide is a supplement which is distributed among patients after few hours, so that risk of thyroid cancer and problems related to it can be avoided. After Chernobyl disaster of Russia in Poland it was distributed among people in high amount whereas it was not distributed on time in Ukraine and Russia thus cases of thyroid cancer and problems related to it were not observed much in Poland.

Fluoride is a such name about which you may also be familiar, hyper-thyroids means in case of excess thyroid it is used for treatment which effectively make it underactive. In modern fluorinated world where water, mouth wash, tooth paste all are fluorinated, care should be taken before use of any of these products.